नहीं चुका पा रहे लोन की EMI तो न हों परेशान, लोन रिस्ट्रक्चरिंग है उपाय

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ने मौजूदा स्थिति को संज्ञान में लेते हुए रेजोल्यूशन फ्रेमवर्क 2.0 की घोषणा की. इसके तहत 25 करोड़ रुपए तक के लोन ले रखे व्यक्ति और छोटे व्यवसाय लोन रिस्ट्रक्चरिंग का विकल्प चुन सकते हैं. बशर्तें उन्होंने पहले की योजना का लाभ नहीं उठाया था.

आरबीआई ने उन लोगों के मामले में जिन्होंने पिछली योजना के तहत लोन पुनर्गठन का लाभ उठाया था, बैंकों और लोन देने वाले संस्थाओं को योजनाओं को संशोधित कर दबाव कम करने में मदद के लिए मोहलत अवधि बढ़ाने की अनुमति दी थी.

बता दें कि नए रिजोल्यूशन फ्रेमवर्क 2.0 का फायदा उन्हीं व्यक्तियों/ इकाइयों को दिया जा सकेगा, जिनके लो खाते 31 मार्च 2021 तक अच्छे थे. लोन समाधान की इस नयी व्यवस्था के अंतर्गत बैंकों को 30 सितंबर तक आवेदन दिया जा सकेगा. इसके 90 दिन के भीतर इस स्कीम को लागू करना होगा.