जवाहिरी के शव का डीएनए नहीं कराएगा अमरीका

वाशिंगटन। अमरीका ने कहा है कि अल कायदा के मारे गए सरगना अयमान अल जवाहिरी के शव का डीएनए टेस्ट नहीं कराया जाएगा। व्हाइट हाउस के मुताबिक, ऐसे कई सोर्स और सबूत हैं, जो जवाहिरी के मारे जाने की पुष्टि करते हैं। इसलिए अमरीका नहीं समझता कि जवाहिरी की मौत को लेकर किसी को कोई शक होना चाहिए। हमला अफगानिस्तान के समयानुसार, रविवार सुबह छह बजकर 18 मिनट पर किया गया। उधर, अमरीका में शनिवार की रात के नौ बजकर 48 मिनट का समय था। अमरीकी अफसर ने बताया कि अमरीकी एजेंसियां काबुल में उसका पिछले छह महीने से लगातार पीछा कर रही थीं। जवाहिरी पर हेलफायर मिसाइल दागी गई। वे अमरीका में 9/11 हमलों का गुनहगार था। 2011 में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद जवाहिरी ही अल-कायदा की कमान संभाल रहा था। रविवार को उसे काबुल में ड्रोन से दागी गई मिसाइल से मार गिराया गया। अब तक डीएनए टेस्ट के जरिए उसके मारे जाने की पुष्टि नहीं हो सकी है।