प्रगतिशील समादवादी पार्टी (लोहिया) और समाजवादी पार्टी का विलय, शिवपाल ने घर पर लगाया सपा का झंडा

मैनपुरी । मैनपुरी उपचुनाव का फाइनल रिजल्ट आने से पहले यूपी की राजनीतिक में एक बड़ा बदलाव सामने आया है। जहां शिवपाल यादव की प्रगतिशील समादवादी पार्टी (लोहिया) और समाजवादी पार्टी का विलय हो गया है. प्रसपा का झंडा उतारकर शिवपाल ने घर पर सपा का झंडा लगाया है.
विधानसभा चुनाव के बाद जहां शिवपाल यादव और अखिलेश के रास्ते अलग दिखाई दे रहे थे.लेकिन नेताजी के निधन बाद मैनपुरी उपचुनाव में चाचा-भतीजे साथ नजर आए. शिवपाल यादव ने इसके बाद बहू डिंपल यादव के लिए जमकर चुनाव प्रचार किया. जसवंत नगर में हुए जनसभा में अखिलेश यादव ने पैर छूकर चाचा का आशीर्वाद भी लिया. इसके बाद दोनों पुराने गिले शिकवे भुलाकर विरोधियों पर निशाना साधते नजर आए. बता दें, 2022 के विधानसभा चुनाव में शिवपाल यादव ने समाजवादी पार्टी के सिंबल पर चुनाव लड़ा था. लेकिन इसके बाद उनके और अखिलेश यादव के बीच दूरियां बढ़ती दिखाई दीं.

मैनपुरी उपचुनाव में निर्णायक बढ़त के बाद अखिलेश यादव नेताजी के समाधी स्थल पर पहुंचे. जहां उन्होंने मुलायम सिंह यादव को नमन किया. इसके बाद वे कार्यकर्ताओं के बीच से होते हुए शिवपाल सिंह यादव के पास पहुंच गए. जिसके बाद उन्होंने चाचा शिवपाल सिंह यादव का पैर छूकर आशीर्वाद लिया. इसके बाद दोनों काफी देर तक कार्यकर्ताओं के बीच में साथ-साथ बैठे नजर आए.